History

Ajijan Begum - The freedom struggle of 1857 - GovtVacancy.Net
Ajijan Begum - The freedom struggle of 1857

The name of Ajijan Begum, a woman who sang the dance of Kanpur, is particularly noteworthy among the sacrificed women of the freedom struggle of 1857.

Indian Independence Act 1947
The Indian Independence Act 1947

The Indian Independence Act 1947, was introduced on 4 July 1947 by the British Prime Minister Clement Richard Attlee in the British Parliament on July 18, 1947.

Government of India Act 1935
Government of India Act 1935

Government of India Act 1935 - The Government of India Act 1935 proved to be a milestone for the formation of a fully responsible government in India and the creation of the present Constitution of India.

Simon Commission 1927
Simon Commission 1927

Simon Commission 1927 - While passing the Act of the Government of India Act 1919, the British Government had announced that it would review these reforms again after ten years.

Rowlatt Act 1919
Rowlatt Act 1919

Rowlatt Act 1919 - At the end of the First World War, when the Indian people were waiting for constitutional reforms, the British government presented the oppressive Rowlatt Act to the public.

Government of India Act 1919
Government of India Act 1919

Government of India Act 1919: Government of India Act 1919 also known as Montagu-Chelmsford Reforms, Montagu was then Secretary of State for India, and Chelmsford was the then Viceroy of India.

Indian Councils Act 1909
Indian Councils Act 1909

Indian Councils Act 1909 - The Indian Councils Act 1909 is also known as Marley-Minto Reforms. At that time, Lord Minto II was working as the then Viceroy and John Marley was the Secretary of India in England.

Indian Councils Act 1892
Indian Councils Act 1892

Indian Councils Act 1892 - Due to the earlier Acts, Indians had started getting entry into public service, economy, etc. to some extent. As a result of which the development of nationalism and political consciousness

Indian Council Act 1861
India Council Act 1861

Indian Council Act 1861 - The Indian Councils Act 1861 was passed by the British Parliament on 1 August 1861. After the revolution of 1857, the British government realized that the cooperation of Indians

Charter Act 1858
Charter Act 1858

Charter Act 1858: The Revolt of 1857 made clear the limits of administration in the complex circumstances of the Company. After this, the demand to withdraw the responsibility of administration from the Company

Charter Act 1853
Charter Act 1853

Charter Act 1853: The series of Charter Acts which was going on by the British Government every 20 years since 1793, was the last act in that series. The Act was originally based on the Select Committee report of 1852

Charter Act 1833
Charter Act 1833

Charter Act 1833: There were two main reasons for passing the Charter Act 1833, firstly the large quantity of material produced after the Industrial Revolution in Britain.

Charter Act 1813
Charter Act 1813

Charter Act 1813: British trade was negatively affected due to the ongoing conflict of the British with the French in Europe. In fact, due to the "continental system" implemented by Napoleon.

Charter Act 1793
Charter Act 1793

Charter Act 1793 - The Charter Act was passed in 1793. This act was passed in the last days of Lord Cornwallis ' tenure. The Regulating Act passed in 1773 and the Pitt's India Act of 1786 was further reformed

Pitt's India Act 1784
Pitt's India Act 1784

Pitt's India Act 1784 - Pitt's India Act was passed in 1784 to eliminate the administrative errors of the Regulating Act of 1773. Bypassing the Regulating Act in 1773, the British Government did not achieve satisfactorily

Regulating Act 1773
The Regulating Act 1773

The Regulating Act 1773 was brought by the British Parliament to control the circumstances arising out of the maladministration of Bengal due to the actions of the East India Company and to snatch political power

Biography of Mahatma Gandhi and Brief Description of Major Satyagraha Movements
Biography of Mahatma Gandhi and Brief Description of Major Satyagraha Movements

Biography of Mahatma Gandhi and Brief Description of Major Satyagraha Movements - Also, information about Gandhi's early life, education initiation, and Gandhi assassination is given here.

Jallianwala Bagh Massacre (April 13, 1919)
Jallianwala Bagh Massacre (April 13, 1919)

Jallianwala Bagh Massacre (April 13, 1919) - The incident of the Jallianwala Bagh massacre took place on the day of Baisakhi on April 13, 1919, at Jallianwala Bagh in Amritsar.

Khilafat Movement, Main Leaders of Khilafat Movement and Outcomes of Movement
Khilafat Movement, Main Leaders of Khilafat Movement, and Outcomes of Movement

Khilafat Movement, Main Leaders of Khilafat Movement, and Outcomes of Movement - Complete information about Khilafat Movement, Chief Leaders of Khilafat Movement, Time Table of Movement.

Ahmedabad Mill Workers Movement - Modern Indian History Notes
Ahmedabad Mill Workers Movement

Ahmedabad Mill Workers Movement - Modern Indian History Notes - When did the Ahmedabad Mill Mazdoor Movement take place? What were the main reasons for the Ahmedabad Mill Workers Movement?

Bijolia Peasant Movement
Bijolia Peasant Movement

Bijolia Peasant Movement - The Bijolia Peasant Movement was an organized peasant movement that started in Rajasthan and spread throughout the country.

Indigo Movement / Champaran Movement
What was the Indigo Movement / Champaran Movement?

What was the Indigo Movement / Champaran Movement: The Indigo Movement / Champaran Movement started when India was occupied by the British. Let us know when the Neel Movement / Champaran Movement

When was the Deccan Rebellion and Deccan Riot Commission appointed?
When was the Deccan Rebellion and Deccan Riot Commission appointed?

When was the Deccan Rebellion and Deccan Riot Commission appointed? - From 1874 to 1879, the Deccan rebellion spread mainly in the areas of Poona, Ahmedabad, Satara, Sholapur, etc. of Maharashtra.

Revolution of 1857 - Modern Indian History
Revolution of 1857 - Modern Indian History

Revolution of 1857 - Modern Indian History | The views of historians about the struggle of 1857 are not the same. Some scholars believe that this rise of 4 months was a peasant rebellion

Lapse Doctrine or Lord Dalhousie's State Grab Policy or Adoption Policy - Modern Indian History
Lapse Doctrine or Lord Dalhousie's State Grab Policy or Adoption Policy

Lapse Doctrine or Lord Dalhousie's State Grab Policy or Adoption Policy - Modern Indian History | Lapse Doctrine, also known as Lord Dalhousie's State Grab Policy or Adoption Policy.

Subsidiary Alliance - Modern Indian History
Subsidiary Alliance - Modern Indian History

Subsidiary Alliance - Modern Indian History | Lord Wellesley is called the father of the subsidiary alliance or the father of the subsidiary alliance. But Lord Wellesley was not the first person to use the subsidiary alliance.

Battle of Buxar - Modern Indian History
Battle of Buxar - Modern Indian History

Battle of Buxar - Modern Indian History | The Battle of Buxar took place on October 22, 1764, between the Nawab of Bengal, Mirkasim, and the British. In the battle of Buxar, the armies of Nawab Mirkasim

Situation of Bengal after the Battle of Plassey - Modern Indian History
The situation of Bengal after the Battle of Plassey - Modern Indian History

The situation of Bengal after the Battle of Plassey - Modern Indian History | The Battle of Plassey is one of the major battles of India. This war also becomes important from the point of view that this

Battle of Plassey | War of Plasi | Modern Indian History Notes for SSC, UPSC
Battle of Plassey | War of Plasi

Battle of Plassey | War of Plasi | Modern Indian History Notes for SSC, UPSC | Battle of Plassey on 23rd June 1757 AD . was born between the British and the then Nawab of Bengal, Siraj -ud-daula

History of Bengal - Modern History of India
History of Bengal - Modern History of India

History of Bengal - Modern History of India | History of Bengal: The history of Bengal is even older than the beginning of the Mughal period in the sixteenth century. Where many Muslim kings

Carnatic War | Modern History of India
Carnatic War | Modern History of India

Carnatic War | Modern History of India | Carnatic War - The Carnatic War was a trade conflict between the British and the French. There were three Carnatic wars between the British and the French.

The arrival of European companies in India - Modern History of India
The arrival of European companies in India

The arrival of European companies in India - Modern History of India | The arrival of European companies in India: Since ancient times, they have come to India for foreign trade.

Download Indian History Notes PDF for Free
Download Indian History Notes PDF for Free

Download Indian History Notes PDF for Free | Free PDF Download for Indian History | Indian History Notes for Govt Exam Preparation Free PDF Downloads | UPSC, SSC Free PDF Download

Ancient India History (Prachin Bharat Ka Itihas) Notes in Hindi for UPSC Free PDF Download
प्राचीन इतिहास Ancient India History Notes in Hindi for UPSC Free PDF Download

Ancient India History Notes in Hindi for UPSC Free PDF Download | प्राचीन इतिहास (Prachin Bharat Ka Itihas) Download PDF Notes in Hindi for Govt Exam Preparation like UPSC, SSC.

Indian History Notes for Govt Exam Preparation | SSC, UPSC, MPSC, UPPSC, BPSC, State PCS
List of Indian History Notes

Indian History Notes for Govt Exam Preparation | SSC, UPSC, MPSC, UPPSC, BPSC, State PCS | History Nots for Govt Job Preparation | History of India - Ancient, Medieval, Modern, and Important Notes

Anglo Mysore War, History Notes for Govt Exam Preparation for Govt Jobs
Anglo Mysore War

Anglo Mysore War | Based on NCERT | History Notes for Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | the conflict between the Kingdom of Mysore and the British is known as the Anglo-Mysore War.

Haider Ali's rise, Based on NCERT, Govt Exam Preparation in Hindi for UPSC, SSC, and Other Govt Jobs Exams.
Haider Ali's rise

Haider Ali's rise (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other State Govt Jobs Notes. | Haider Ali was born in 1721 at Budhikota (Karnataka).

Anglo Maratha War, History Notes for Govt Exam Preparation
Anglo Maratha War

Anglo Maratha War | History notes for Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | There have been three Anglo-Maratha wars in the history of India.

Peshwa Empire – NCERT based short notes
Peshwa Empire – NCERT based short notes

Peshwa Empire – NCERT-based short notes | History Notes for Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | NCERT based History short notes of Peshwa Empire

Maratha Empire (1640-1680) - NCERT based short notes
Maratha Empire (1640-1680) - NCERT-based short notes

Maratha Empire (1640-1680) - NCERT-based short notes | History Notes for Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | NCERT-based short notes on the history of the Maratha Empire

Maratha Empire, Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, History Notes
Maratha Empire History

Maratha Empire History | History Notes for Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | The creation of the Maratha state is a revolutionary event. An important element in Indian politics

Anglo Sikh War
Anglo Sikh War

Anglo Sikh War | History Notes for Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | The two wars between the British and the Sikhs are referred to as the Anglo-Sikh War.

Rise of the Sikh Empire, History of the Sikhs
Rise of the Sikh Empire | History of the Sikhs

Rise of the Sikh Empire | History of the Sikhs | History Notes for Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | The tenth and last Guru of the Sikhs, Gobind Singh (1675-1699)

10 Gurus of Sikhism | History Notes for Govt Exam Preparation
10 Gurus of Sikhism

10 Gurus of Sikhism | History Notes for Govt Exam Preparation like SSC, UPSC, and Govt Job Exams. | There have been 10 Gurus of Sikhism. Guru Nanak Dev Ji was the originator (Janak) of Sikhism

History Notes in Hindi (इतिहास के नोट्स हिंदी में) for Govt Exam Preparation like SSC, UPSC
History Notes in Hindi (इतिहास के नोट्स हिंदी में)

History Notes in Hindi (इतिहास के नोट्स हिंदी में) for Govt Exam Preparation like SSC, UPSC. | Ancient, Medieval, Modern Indian History, प्राचीन, मध्यकालीन, आधुनिक भारतीय इतिहास

Aurangzeb (1658-1707 AD) [Based on NCERT]
Aurangzeb (1658-1707 AD)

Aurangzeb (1658-1707 AD) [Based on NCERT] | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Aurangzeb was born on November 3, 1618, at a place called Dohan.

Shah Jahan (1628-1658 AD) [Based on NCERT]
Shah Jahan (1628-1658 AD)

Shah Jahan (1628-1658 AD) [Based on NCERT] | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Shah Jahan was the son of Jahangir and the grandson of Akbar

Jahangir (1605-1627 AD) [Based on NCERT]
Jahangir (1605-1627 AD)

Jahangir (1605-1627 AD) [Based on NCERT] | Indian History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Jahangir was born on August 30, 1569 in Fatehpur Sikri.

Akbar (1556-1605 AD) [Based on NCERT]
Akbar (1556-1605 AD)

Akbar (1556-1605 AD) [Based on NCERT] | Hindi Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Jalaluddin Muhammad Akbar  was the son of Humayun  and Hamida Banu Begum

Sher Shah Suri (1540-45 AD) [Based on NCERT]
Sher Shah Suri (1540-45 AD)

Sher Shah Suri (1540-45 AD) [Based on NCERT] | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Sher Shah Suri was born in 1472 AD and his childhood name was Farid.

Humayun (1530-1556 AD) [Based on NCERT]
Humayun (1530-1556 AD)

Humayun (1530-1556 AD) [Based on NCERT] | Indian History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | After Babur's death, Babur's eldest son Humayun sat on the throne

Mughal Empire (1526-1707) (Based on NCERT)
Mughal Empire (1526-1707)

Mughal Empire (1526-1707) (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | The battle between Ibrahim Lodi and the Chughtai Turk Jalaluddin Babur

Delhi Sultanate – Lodi Dynasty (Based on NCERT)
Delhi Sultanate – Lodi Dynasty

Delhi Sultanate – Lodi Dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Bahlol Lodi established the Lodi dynasty in the Delhi Sultanate in 1451 AD.

Delhi Sultanate – Sayyid Dynasty (Based on NCERT)
Delhi Sultanate – Sayyid Dynasty

Delhi Sultanate – Sayyid Dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | The Sayyid dynasty was the fourth dynasty to rule the Delhi Sultanate.

Delhi Sultanate – Tughlaq Dynasty (Based on NCERT)
Delhi Sultanate – Tughlaq Dynasty

Delhi Sultanate – Tughlaq Dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | The Tughlaq Dynasty ruled Delhi from 1320 to 1413 AD.

Delhi Sultanate – Khilji Dynasty (Based on NCERT)
Delhi Sultanate – Khilji Dynasty

Delhi Sultanate – Khilji Dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | The establishment of power by Khilji is called revolution.

Delhi Sultanate – Mamluk or Slave Dynasty (Based on NCERT)
Delhi Sultanate – Mamluk or Slave Dynasty

Delhi Sultanate – Mamluk or Slave Dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for UPSC, SSC, and Other Govt Jobs. | Qutbuddin Aibak was a slave of Muhammad Ghori.

Introduction to Delhi Sultanate (Based on NCERT)
Introduction to Delhi Sultanate

Introduction to Delhi Sultanate (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | The Turks invaded India in the second half of the eleventh century

Chauhan dynasty (Based on NCERT)
Chauhan dynasty

Chauhan dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | Chauhan dynasty was established by Vasudev in the area of ​​Sapadalaksha in 551 AD

Chalukyas of Kalyani (Western Chalukyas) [Based on NCERT]
Chalukyas of Kalyani (Western Chalukyas)

Chalukyas of Kalyani (Western Chalukyas) [Based on NCERT] | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Chalukyas of Kalyani are also called Western Chalukyas.

Chola Empire (Based on NCERT)
Chola Empire

Chola Empire (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs | Chola Empire: The information regarding the rise of the Chola Empire starts from the Sangam

Rashtrakuta Dynasty (Based on NCERT)
Rashtrakuta Dynasty

Rashtrakuta Dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Rashtrakuta Dynasty (753-973 AD): According to the records received

Pallava dynasty (Based on NCERT)
Pallava dynasty

Pallava dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs | There is a difference of opinion regarding the establishment of the Pallava dynasty

Chalukya Dynasty (Based on NCERT)
Chalukya Dynasty

Chalukya Dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | (Chalukya of Badami/Vatapi – Main Branch)

Chera Dynasty (Based on NCERT)
Chera Dynasty

Chera Dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | The first ruler and founder of the Chera dynasty is considered to be Udayin Jeral

Vijayanagara Empire (Based on NCERT)
Vijayanagara Empire

Vijayanagara Empire (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Sangam dynasty | Saluva dynasty | Tuluva dynasty | Aravidu dynasty

Vardhana or Vardhana dynasty and Pushyabhuti dynasty (Based on NCERT)
Vardhana or Vardhana dynasty and Pushyabhuti dynasty

Vardhana or Vardhana dynasty and Pushyabhuti dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs

Gupta Dynasty – Gupta period (Based on NCERT)
Gupta Dynasty – Gupta period

Gupta Dynasty – Gupta period (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | The rise of the Gupta dynasty | Reason for the downfall of the Gupta dynasty

Post-Mauryan dynasty (Based on NCERT)
Post-Mauryan dynasty

Post-Mauryan dynasty (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Shunga Dynasty | Kanva Dynasty | Kushan Dynasty | Satavahana Dynasty

Maurya Empire (Based on NCERT)
Maurya Empire

Maurya Empire (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and Other Govt Jobs. | Chandragupta Maurya (from 322 to 298 BC) | Bindusara

Magadha Empire (Based on NCERT)
Magadha Empire

Magadha Empire (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other govt jobs. | The dynasty that ruled Magadha according to different sects

Buddhism (Based on NCERT)
Buddhism

Buddhism (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, other Govt Jobs. | The Eightfold Path is one of the main teachings of Mahatma Buddha

Jainism (Based on NCERT)
Jainism

Jainism (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | Names of all 24 Tirthankaras of Jainism

Vedic Civilization (Based on NCERT)
Vedic Civilization

Vedic Civilization (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other govt jobs. | Aryan Civilization emerged after the decline of the Indus Civilization.

The decline of the Indus Valley Civilization (Based on NCERT)
The decline of the Indus Valley Civilization

The decline of the Indus Valley Civilization (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other govt jobs. | Review the causes of the decline of the Harappan Civilization

Religious Life of Indus Valley Civilization (Based on NCERT)
Religious Life of Indus Valley Civilization

Religious Life of Indus Valley Civilization or Harappan Civilization (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs.

Social Life of Indus Valley Civilization (Based on NCERT)
Social Life of Indus Valley Civilization

Social Life of Indus Valley Civilization (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation in Hindi for SSC, UPSC, and other govt jobs. | The social life of the Indus Civilization or Harappan Civilization

Indus Valley Civilization Crafts and Industry (Based on NCERT)
Indus Valley Civilization Crafts and Industry

Indus Valley Civilization Crafts and Industry (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | Artifacts and industries of the Harappan Civilization

Economic Life of Indus Valley Civilization (Based on NCERT)
Economic Life of Indus Valley Civilization or Harappan Civilization

Economic Life of Indus Valley Civilization or Harappan Civilization (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs.

Describe the town plan of the Indus Valley Civilization (Based on NCERT)
Describe the town plan of the Indus Valley Civilization or Harappan Civilization

Describe the town plan of the Indus Valley Civilization or Harappan Civilization (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs.

Major sites of the Indus Valley Civilization (Based on NCERT)
Major sites of the Indus Valley Civilization (Based on NCERT)

Major sites of the Indus Valley Civilization (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | Major excavation sites of the Indus Valley Civilization

Indus Valley Civilization (Based on NCERT)
Indus Valley Civilization (Based on NCERT)

Indus Valley Civilization (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC, and other Govt Jobs. | Decline of Indus Civilization | Transport system in Indus Civilization

Chalcolithic Period (Based on NCERT)
Chalcolithic Period (Based on NCERT)

Chalcolithic Period (Based on NCERT) | History Notes | Govt Exam Preparation in Hindi for SSC, UPSC, and other govt jobs | Chalcolithic Exam Useful Quiz | Chalcolithic settlements in India

Prehistoric Era Notes (Based on NCERT)
Prehistoric Era Notes (Based on NCERT)

Prehistoric Era Notes (Based on NCERT) | History Notes | General Knowledge | Govt Exam Preparation for SSC, UPSC. | The prehistoric period or prehistoric period is divided into three parts

1989 की क्रांतियाँ और साम्यवाद का पतन | The Fall of Communism in Hindi
1989 की क्रांतियाँ और साम्यवाद का पतन

1989 की क्रांतियाँ और साम्यवाद का पतन | Revolutions of 1989 and the Fall of Communism in Hindi | साम्यवाद - 1920 से 1980 के दशक की अवधि के दौरान | World History Notes in Hindi for Govt Exam.

बर्लिन की दीवार का गिरना (1989): महत्व | Fall of the Berlin Wall in Hindi
बर्लिन की दीवार का गिरना (1989)

बर्लिन की दीवार का गिरना (1989): महत्व | Fall of the Berlin Wall in Hindi | बर्लिन की दीवार एक बाधा थी जो 1961 से 1989 तक मौजूद थी | World History Notes in Hindi for SSC, UPSC and Govt Exam.

यूएसएसआर का विघटन (1991) : कारण और प्रभाव | Disintegration of the USSR in Hindi
यूएसएसआर का विघटन (1991) : कारण और प्रभाव

यूएसएसआर का विघटन (1991) : कारण और प्रभाव | Disintegration of the USSR in Hindi | (USSR) रूस के नेता के रूप में 15 गणराज्यों का एक ढीला संघ था। World History Notes in Hindi for SSC, UPSC.

प्रथम विश्व युद्ध (1914-1918): कारण और परिणाम | First World War in Hindi
प्रथम विश्व युद्ध (1914-1918): कारण और परिणाम

प्रथम विश्व युद्ध (1914-1918): कारण और परिणाम | First World War in Hindi | दुनिया की महान शक्तियाँ दो विरोधी गठबंधनों में इकट्ठी हुईं: मित्र राष्ट्र बनाम केंद्रीय शक्तियाँ | world history notes in Hindi

द्वितीय विश्व युद्ध (1939-1945): कारण और परिणाम | Second World War in Hindi
द्वितीय विश्व युद्ध (1939-1945): कारण और परिणाम

द्वितीय विश्व युद्ध (1939-1945): कारण और परिणाम | Second World War in Hindi | हम अमेरिकी गृहयुद्ध (1861-1865) के कारणों और महत्व पर चर्चा करते हैं। World History Notes in Hindi for SSC, UPSC.

अमेरिकी गृहयुद्ध (1861-1865) क्या है? The American Civil War in Hindi
अमेरिकी गृहयुद्ध (1861-1865) क्या है?

अमेरिकी गृहयुद्ध (1861-1865) क्या है? The American Civil War in Hindi | Kya Hai | अब्राहम लिंकन ने इतिहास को कैसे बदला? | World History Notes in Hindi for SSC, UPSC.

चीनी इतिहास क्या है? चीनी क्रांति, गृहयुद्ध और कम्युनिस्ट क्रांति | Chinese History in Hindi
चीनी इतिहास क्या है?

चीनी इतिहास क्या है? चीनी क्रांति, गृहयुद्ध और कम्युनिस्ट क्रांति | Chinese History in Hindi | Kya Hai | चीन प्राचीन संस्कृति और विरासत वाला देश है। World History in Hindi for SSC, UPSC.

इज़राइल-फिलिस्तीन संघर्ष क्या है? - इतिहास, युद्ध और समाधान | Israel-Palestine Conflict in Hindi
इज़राइल-फिलिस्तीन संघर्ष क्या है?

इज़राइल-फिलिस्तीन संघर्ष क्या है? - इतिहास, युद्ध और समाधान | Israel-Palestine Conflict in Hindi | Kya Hai | जिसे अक्सर 'दुनिया का सबसे कठिन संघर्ष' कहा जाता है | World History in Hindi

अफ्रीका का औपनिवेशीकरण क्या है? | Colonization of Africa in Hindi
अफ्रीका का औपनिवेशीकरण क्या है?

अफ्रीका का औपनिवेशीकरण (उपनिवेशीकरण) क्या है? | Colonization of Africa in Hindi | अफ्रीका के लिए संघर्ष ने कैसे विऔपनिवेशीकरण का नेतृत्व किया? | Kya Hai | World History Notes in Hindi

अमेरिकी क्रांति क्या है? - American Revolution in Hindi
अमेरिकी क्रांति क्या है?

अमेरिकी क्रांति क्या है? - कैसे अमेरिका ने राजशाही को उलट दिया और स्वतंत्र, समृद्ध और शक्तिशाली बन गया? American Revolution in Hindi | Kya thi | World History in Hindi for SSC, UPSC.

ईरानी क्रांति क्या है? - Iranian Revolution in Hindi
ईरानी क्रांति क्या है?

ईरानी क्रांति क्या है? - Iranian Revolution in Hindi | Kya Hai | इस्लामी क्रांति सभ्यताओं के संघर्ष से कैसे जुड़ी है? | World History Notes in Hindi for SSC, UPSC, Govt Exam.

विश्व और भारत 1945-1960: इंटर-लिंकिंग द्वारा इतिहास जानें | India between 1945 - 1960 | Hindi
विश्व और भारत 1945-1960: इंटर-लिंकिंग द्वारा इतिहास जानें

विश्व और भारत 1945-1960: इंटर-लिंकिंग द्वारा इतिहास जानें | India between 1945 - 1960 | Hindi | Learn History by Inter-Linking | हम छात्रों को इतिहास को विभिन्न विषयों से जोड़कर सीखने में मदद करते हैं। 

विश्व और भारत 1960-1970: इंटर-लिंकिंग द्वारा इतिहास जानें | India between 1960 - 1970 | Hindi
विश्व और भारत 1960-1970: इंटर-लिंकिंग द्वारा इतिहास जानें

विश्व और भारत 1960-1970: इंटर-लिंकिंग द्वारा इतिहास जानें | India between 1960 - 1970 | Hindi | Learn History by Inter-Linking | हम छात्रों को इतिहास को विभिन्न विषयों से जोड़कर सीखने में मदद करते हैं। 

रूसी क्रांति (1917-1923) | Russian Revolution in Hindi
रूसी क्रांति क्या थी? - (1917-1923)

रूसी क्रांति (1917-1923) | Russian Revolution in Hindi | रूसी क्रांति क्या थी? रूसी क्रांति का कारण क्या था? फरवरी क्रांति क्या थी? अक्टूबर क्रांति क्या थी? | Kya Hai

फ्रांसीसी क्रांति (1789-1799) | French Revolution in Hindi
फ्रांसीसी क्रांति (1789-1799)

फ्रांसीसी क्रांति (1789-1799) | French Revolution in Hindi | फ्रांसीसी क्रांति का कारण क्या था? फ्रांसीसी क्रांति ने फ्रांस और दुनिया को कैसे प्रभावित किया? फ्रांसीसी क्रांति में नेपोलियन की क्या भूमिका थी?

नेपोलियन बोनापार्ट कौन था? | Napoleon Bonaparte in Hindi
नेपोलियन बोनापार्ट कौन था?

नेपोलियन बोनापार्ट | Napoleon Bonaparte in Hindi | नेपोलियन बोनापार्ट कौन था? फ्रांसीसी क्रांति में उनकी क्या भूमिका थी? अधिकांश यूरोप को नियंत्रित करने के लिए उदय कैसे हुआ?

मराठा शक्ति का उदय, प्रांतीय राज्य [यूपीएससी इतिहास नोट्स]
मराठा शक्ति का उदय, प्रांतीय राज्य

छत्रपति शिवाजी महाराज के सत्ता में आने और मराठा साम्राज्य के बारे में सब कुछ पढ़ें। बंगाल, अवध, राजपूतों आदि के प्रांतीय राज्यों के बारे में भी पढ़ें। [यूपीएससी इतिहास नोट्स

यूरोपीय लोगों का भारत आना - भारत में पुर्तगाली, ब्रिटिश राज, फ्रेंच भारत, आदि।
यूरोपीय लोगों का भारत आना - भारत में पुर्तगाली, ब्रिटिश राज, फ्रेंच भारत, आदि।

यूरोपीय लोगों का आना - भारत में यूरोपीय औपनिवेशिक शासन के बारे में विवरण (पुर्तगाली, फ्रेंच, ब्रिटिश, डेन, डच)। भारत पर ब्रिटिश विजय का विवरण।

बक्सर की लड़ाई 1764 - बक्सर की लड़ाई का कारण और इलाहाबाद की संधि 1765
बक्सर की लड़ाई 1764 - बक्सर की लड़ाई का कारण और इलाहाबाद की संधि 1765

बक्सर की लड़ाई 1764 अंग्रेजों और बंगाल के नवाब, अवध और मुगल सम्राट के संघ के बीच लड़ी गई थी। बक्सर की लड़ाई का परिणाम ईआईसी के पक्ष में हुआ जिसने बंगाल, बिहार और उड़ीसा के दीवानी अधिकार हासिल कर लिए।

भारतीय राष्ट्रीय सेना: पृष्ठभूमि, सुभाष चंद्र बोस की भूमिका और आजाद हिंद फौज
भारतीय राष्ट्रीय सेना: पृष्ठभूमि, सुभाष चंद्र बोस की भूमिका और आजाद हिंद फौज

आजाद हिंद फौज के नाम से मशहूर भारतीय राष्ट्रीय सेना ने कई दशकों तक भारतीयों की कल्पना पर कब्जा किया है। इस शानदार सेना के बारे में और जानने के लिए पढ़ें।

भगत सिंह - पृष्ठभूमि गतिविधियां [ यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास ]
भगत सिंह - पृष्ठभूमि गतिविधियां

भगत सिंह - भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भगत सिंह का जीवन और योगदान। भगत सिंह, सेंट्रल असेंबली बम केस और लाहौर षडयंत्र केस के बारे में अधिक जानने के लिए क्लिक करें।

भारत में वायसराय की सूची (1858 से 1947) - कार्यकाल, उनके कार्यकाल के दौरान महत्वपूर्ण घटनाएं
भारत में वायसराय की सूची(1858 से 1947) - कार्यकाल, उनके कार्यकाल के दौरान महत्वपूर्ण घटनाएं

लॉर्ड कैनिंग भारत के पहले वायसराय थे और लॉर्ड माउंटबेटन अंतिम वायसराय थे। 1858 से 1947 तक भारत के सभी वायसराय और उस चरण के दौरान हुई महत्वपूर्ण घटनाओं के बारे में जानने के लिए इस लेख में पढ़ें।

खान अब्दुल गफ्फार खान - फ्रंटियर गांधी के बारे में तथ्य (यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास)
खान अब्दुल गफ्फार खान - फ्रंटियर गांधी के बारे में तथ्य

खान अब्दुल गफ्फार खान, जिन्हें बच्चा खान के नाम से भी जाना जाता है, एक पश्तून स्वतंत्रता कार्यकर्ता थे जिन्होंने भारत में ब्रिटिश राज के शासन को समाप्त करने के लिए अभियान चलाया था। खान अब्दुल गफ्फार खान को फ्रंटियर गांधी के नाम से

माउंटबेटन योजना 1947: पृष्ठभूमि और प्रावधान [ एनसीईआरटी नोट्स ]
माउंटबेटन योजना 1947: पृष्ठभूमि और प्रावधान

माउंटबेटन योजना को भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम 1947 द्वारा क्रियान्वित किया गया था जिसे 18 जुलाई 1947 को शाही सहमति प्राप्त हुई थी।

भारत की संविधान सभा - संरचना, महत्व, [यूपीएससी भारतीय राजनीति नोट्स]
भारत की संविधान सभा - संरचना, महत्व, [यूपीएससी भारतीय राजनीति नोट्स]

भारत की संविधान सभा - संविधान सभा का विचार 1934 में एम.एन. रॉय। UPSC IAS परीक्षा के लिए भारतीय संविधान सभा की संरचना और कार्यों के बारे में पढ़ें।

भारतीय संविधान का इतिहास - भारत का संवैधानिक इतिहास [यूपीएससी नोट्स]
भारतीय संविधान का इतिहास - भारत का संवैधानिक इतिहास

भारत के संविधान की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि - महत्वपूर्ण कृत्यों की श्रृंखला द्वारा भारतीय संविधान के इतिहास को जानें। भारत की संवैधानिक ऐतिहासिक पृष्ठभूमि UPSC परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण है।

कैबिनेट मिशन 1946 - यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स
कैबिनेट मिशन 1946

कैबिनेट मिशन फरवरी 1946 में भारत भेजा गया था। पेथिक लॉरेंस की अध्यक्षता में कैबिनेट मिशन का उद्देश्य ब्रिटिश से भारतीय नेताओं को शक्तियों के हस्तांतरण पर चर्चा करना था।

1945 का वेवेल योजना और शिमला सम्मेलन - योजना की पृष्ठभूमि और प्रस्ताव
1945 का वेवेल योजना और शिमला सम्मेलन - योजना की पृष्ठभूमि और प्रस्ताव

वेवेल योजना पहली बार 1945 में शिमला सम्मेलन में प्रस्तुत की गई थी। इसका नाम भारत के वायसराय लॉर्ड वेवेल के नाम पर रखा गया था। भारतीय स्वशासन के लिए वेवेल योजना पर सहमत होने के लिए शिमला सम्मेलन का आयोजन किया गया था।

अगस्त ऑफर 1940 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
अगस्त ऑफर 1940

अगस्त प्रस्ताव का महत्व: पहली बार, भारतीयों को अपना संविधान बनाने के अधिकार को स्वीकार किया गया था। एनसीईआरटी नोट्स: अगस्त ऑफर 1940 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

सी आर फॉर्मूला या राजाजी फॉर्मूला (1944) आधुनिक इतिहास एनसीईआरटी नोट्स
सी आर फॉर्मूला या राजाजी फॉर्मूला (1944)

सी आर फॉर्मूला या राजाजी फॉर्मूला (1944) आधुनिक इतिहास एनसीईआरटी नोट्स। 1944 में, गांधी और एम ए जिन्ना ने राजाजी फॉर्मूला के आधार पर बातचीत की। वार्ता विफल रही क्योंकि जिन्ना को प्रस्ताव पर आपत्ति थी।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सत्र और उनके अध्यक्षों की सूची - स्वतंत्रता पूर्व
भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सत्र और उनके अध्यक्षों की सूची - स्वतंत्रता पूर्व

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सत्रों की सूची - पहला भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सत्र 1885 में हुआ था। यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा और अन्य प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस सत्रों को जानें।

नेहरू रिपोर्ट और जिन्ना के 14 अंक [यूपीएससी के लिए भारत के आधुनिक इतिहास पर एनसीईआरटी नोट्स]
नेहरू रिपोर्ट और जिन्ना के 14 अंक

28 अगस्त, 1928 को सर्वदलीय सम्मेलन के लखनऊ अधिवेशन में नेहरू रिपोर्ट प्रस्तुत की गई। नेहरू रिपोर्ट और जिन्ना के 14 अंक [यूपीएससी के लिए भारत के आधुनिक इतिहास पर एनसीईआरटी नोट्स]

भारत छोड़ो आंदोलन (8 अगस्त, 1942) - पृष्ठभूमि, महत्व (UPSC)
भारत छोड़ो आंदोलन (8 अगस्त, 1942)

8 अगस्त 1942 को बंबई में कांग्रेस कार्य समिति द्वारा भारत छोड़ो प्रस्ताव पारित किया गया था। गांधी को भारत छोड़ो आंदोलन के नेता नामित किया गया था। आंदोलन ने पूर्ण स्वतंत्रता की मांग को स्वतंत्रता आंदोलन के शीर्ष एजेंडे में रखा।

डॉ बीआर अंबेडकर (1891-1956) [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स]
डॉ बीआर अंबेडकर (1891-1956)

डॉ बी.आर. अम्बेडकर संविधान सभा की मसौदा समिति के अध्यक्ष थे और उन्हें 'भारतीय संविधान के पिता' के रूप में जाना जाता है। एनसीईआरटी नोट्स: डॉ बीआर अंबेडकर (1891-1956) [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स]

सुभाष चंद्र बोस - भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भूमिका
सुभाष चंद्र बोस - भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में भूमिका

सुभाष चंद्र बोस एक प्रसिद्ध राष्ट्रवादी नेता हैं। IAS परीक्षा के लिए सुभाष चंद्र बोस की जीवनी पढ़ें। एससी बोस पर एनसीईआरटी नोट्स प्राप्त करें। सुभाष चंद्र बोस के नेतृत्व में भारतीय राष्ट्रीय सेना (INA) को पुनर्जीवित किया गया था।

क्रिप्स मिशन - क्रिप्स मिशन के प्रस्ताव (यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास)
क्रिप्स मिशन - क्रिप्स मिशन के प्रस्ताव

द्वितीय विश्व युद्ध में भारत का समर्थन लेने के लिए 1942 में क्रिप्स मिशन को भारत भेजा गया था। क्रिप्स मिशन के प्रस्तावों में से एक भारतीय प्रभुत्व स्थापित करना था। क्रिप्स मिशन द्वारा IAS परीक्षा के लिए किए गए अन्य प्रस्तावों को पढ़ें।

पूना पैक्ट, 1932 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
पूना पैक्ट, 1932

पूना पैक्ट डॉ. भीमराव अम्बेडकर और महात्मा गांधी के बीच 24 सितंबर, 1932 को हस्ताक्षरित एक समझौता था। इस घटना और इसके बाद की घटनाओं की श्रृंखला के बारे में अधिक जानने के लिए पढ़ें।

भारत सरकार अधिनियम 1935 - आधुनिक भारतीय इतिहास एनसीईआरटी नोट्स
भारत सरकार अधिनियम 1935

भारत सरकार अधिनियम 1935 आधुनिक इतिहास NCERT नोट्स। भारत सरकार अधिनियम अगस्त 1935 में ब्रिटिश संसद द्वारा पारित किया गया था। भारत सरकार अधिनियम 1935

दूसरा और तीसरा गोलमेज सम्मेलन - आधुनिक इतिहास एनसीईआरटी नोट्स
दूसरा और तीसरा गोलमेज सम्मेलन - आधुनिक इतिहास एनसीईआरटी नोट्स

दूसरा और तीसरा गोलमेज सम्मेलन। दूसरा गोलमेज सम्मेलन लंदन में 7 सितंबर 1931 से 1 दिसंबर 1931 तक गांधी और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की भागीदारी के साथ आयोजित किया गया था।

प्रथम गोलमेज सम्मेलन 1930 [ यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी नोट्स ]
प्रथम गोलमेज सम्मेलन 1930

प्रथम गोलमेज सम्मेलन 1930 यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी नोट्स, प्रथम गोलमेज सम्मेलन पर आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स, 1930, गोलमेज सम्मेलन लघु नोट्स, गोलमेज सम्मेलन पर प्रश्न

गांधी इरविन पैक्ट - पृष्ठभूमि, विशेषताएं और परिणाम (यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स)
गांधी इरविन पैक्ट

गांधी इरविन पैक्ट यूपीएससी - गांधी इरविन पैक्ट एनसीईआरटी नोट्स प्राप्त करें। पढ़ें IAS परीक्षा के लिए गांधी इरविन पैक्ट क्या है। दिल्ली में गांधी इरविन पैक्ट 1931 पर हस्ताक्षर किए गए, जिसे दिल्ली-पैक्ट भी कहा जाता है।

वैकोम सत्याग्रह [ वैकोम सत्याग्रह पर आधुनिक इतिहास के नोट्स ]
वैकोम सत्याग्रह

यूपीएससी आईएएस परीक्षा के लिए वैकोम सत्याग्रह पर विस्तृत आधुनिक इतिहास एनसीईआरटी नोट्स प्राप्त करें। वैकोम सत्याग्रह (1924 - 25) हिंदू समाज में अस्पृश्यता के खिलाफ त्रावणकोर में एक सत्याग्रह था।

बारडोली सत्याग्रह - प्रभाव, आलोचना
बारडोली सत्याग्रह - प्रभाव, आलोचना

बारडोली सत्याग्रह, प्रभाव, आलोचना, सरदार वल्लभभाई पटेल द्वारा निभाई गई भूमिका, आईएएस इतिहास के लिए इसके शुभारंभ के कारणों के बारे में अधिक जानकारी पढ़ें

स्वराज पार्टी - कांग्रेस-खिलाफत स्वराज्य पार्टी (यूपीएससी मेन्स हिस्ट्री)
स्वराज पार्टी - कांग्रेस-खिलाफत स्वराज्य पार्टी

स्वराज पार्टी का गठन 1923 में मोतीलाल नेहरू और सीआर दास ने किया था। स्वराज पार्टी का गठन असहयोग आंदोलन की वापसी और 1919 के मोंटफोर्ड सुधारों के बाद हुआ।

साइमन कमीशन रिपोर्ट - पृष्ठभूमि, बहिष्कार, महत्व (यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास)
साइमन कमीशन रिपोर्ट - पृष्ठभूमि, बहिष्कार, महत्व

1928 में साइमन कमीशन भारत आया। एक शाही आयोग, साइमन कमीशन, भारत सरकार अधिनियम, 1919 के कामकाज की जाँच करना चाहता था। IAS परीक्षा के लिए लेख में साइमन कमीशन के बारे में पढ़ें।

18वीं शताब्दी में किसान आंदोलन - रंगपुर ढिंग | एनसीईआरटी नोट्स
18वीं शताब्दी में किसान आंदोलन - रंगपुर ढिंग | एनसीईआरटी नोट्स

18 वीं शताब्दी में किसान आंदोलन - रंगपुर ढिंग आधुनिक इतिहास एनसीईआरटी नोट्स। रंगपुर ढिंग (विद्रोह) 1783 में बंगाल के रंगपुर जिले में भड़क उठा।

19वीं सदी में किसान आंदोलन - 1875 के दक्कन दंगे | एनसीईआरटी नोट्स
19वीं सदी में किसान आंदोलन - 1875 के दक्कन दंगे

एनसीईआरटी नोट्स: 19वीं सदी में किसान आंदोलन - 1875 के दक्कन दंगे; दक्कन दंगे यूपीएससी; 19वीं सदी के किसान आंदोलन; भारत में किसान आंदोलन यूपीएससी।

नील विद्रोह - 19वीं शताब्दी में किसान आंदोलन यूपीएससी परीक्षा एनसीईआरटी नोट्स
नील विद्रोह - 19वीं शताब्दी में किसान आंदोलन यूपीएससी परीक्षा एनसीईआरटी नोट्स

19वीं सदी में किसान आंदोलन - नील विद्रोह NCERT नोट्स। इंडिगो विद्रोह पर आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स। भारत में किसान आंदोलन यूपीएससी, इंडिगो विद्रोह यूपीएससी नोट्स

18वीं और 19वीं सदी में आदिवासी विद्रोह | आधुनिक इतिहास NCERT Notes
18वीं और 19वीं सदी में आदिवासी विद्रोह

18वीं और 19वीं सदी में आदिवासी विद्रोह आधुनिक इतिहास NCERT नोट्स। भारत में विभिन्न आदिवासी समूहों में से कई ने ब्रिटिश और अन्य भारतीयों द्वारा उनके जीवन और क्षेत्र में जबरदस्ती और विनाशकारी घुसपैठ के खिलाफ विद्रोह किया।

अपदस्थ सरदारों और जमींदारों द्वारा अंग्रेजों के खिलाफ लोकप्रिय विद्रोह | एनसीईआरटी नोट्स
अपदस्थ सरदारों और जमींदारों द्वारा अंग्रेजों के खिलाफ लोकप्रिय विद्रोह

एनसीईआरटी नोट्स: अपदस्थ सरदारों और जमींदारों द्वारा अंग्रेजों के खिलाफ लोकप्रिय विद्रोह। अपदस्थ शासकों और जमींदारों द्वारा आंदोलन।

मोपला विद्रोह 1921 [यूपीएससी परीक्षा तैयारी एनसीईआरटी नोट्स] मैपिला विद्रोह
मोपला विद्रोह 1921

एनसीईआरटी 1921 के मोपला विद्रोह 1921 के मोपला विद्रोह पर आधुनिक भारतीय इतिहास के नोट्स मप्पिला विद्रोह, मालाबार विद्रोह, मोपला विद्रोह यूपीएससी, मपिला विद्रोह यूपीएससी, 1921 मालाबार विद्रोह के नेता।

18वीं और 19वीं शताब्दी में लोकप्रिय विद्रोह - राजनीतिक-धार्मिक आंदोलन
18वीं और 19वीं शताब्दी में लोकप्रिय विद्रोह - राजनीतिक-धार्मिक आंदोलन

एनसीईआरटी नोट्स: 18वीं और 19वीं शताब्दी में लोकप्रिय विद्रोह - राजनीतिक-धार्मिक आंदोलन। 18वीं और 19वीं सदी में राजनीतिक-धार्मिक विद्रोह।

नमक सत्याग्रह [एनसीईआरटी नोट्स] - दांडी मार्च की पृष्ठभूमि, कारण और प्रभाव
नमक सत्याग्रह / दांडी मार्च

दांडी मार्च के लिए एनसीईआरटी नोट्स विस्तार से। नमक मार्च का इतिहास और तथ्य, कमियां, कारण और प्रभाव। नमक सत्याग्रह आधुनिक भारतीय इतिहास सविनय अवज्ञा आंदोलन के बारे में विस्तार से जानिए।

होम रूल मूवमेंट | आधुनिक इतिहास यूपीएससी आईएएस परीक्षा के लिए एनसीईआरटी नोट्स
होम रूल मूवमेंट

होमरूल आंदोलन। होम रूल आंदोलन का उद्देश्य कनाडा और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों की तर्ज पर ब्रिटिश साम्राज्य के तहत भारत के लिए होम रूल या डोमिनियन स्टेटस प्राप्त करना था।

असहयोग आंदोलन (1920) - का महत्व [यूपीएससी नोट्स]
असहयोग आंदोलन (1920) - का महत्व [यूपीएससी नोट्स]

1920 में असहयोग आंदोलन घोषित किया गया था। असहयोग आंदोलन के पीछे महात्मा गांधी मुख्य शक्ति थे।

लखनऊ संधि (1916) - प्रभाव और परिणाम | एनसीईआरटी नोट्स
लखनऊ संधि (1916) - प्रभाव और परिणाम | एनसीईआरटी नोट्स

लखनऊ समझौता दिसंबर 1916 में लखनऊ में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC) और अखिल भारतीय मुस्लिम लीग के बीच किया गया एक समझौता है।

रॉलेट एक्ट और जलियांवाला बाग हत्याकांड - इतिहास और महत्व
रॉलेट एक्ट और जलियांवाला बाग हत्याकांड - इतिहास और महत्व

रॉलेट एक्ट को आधिकारिक तौर पर अराजक और क्रांतिकारी अपराध अधिनियम, 1919 के रूप में जाना जाता था। रॉलेट एक्ट के बाद, बैसाखी (13 अप्रैल 1919) के दिन, जलियांवाला बाग हत्याकांड हुआ था।

भारत में गांधी के प्रारंभिक आंदोलन [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
भारत में गांधी के प्रारंभिक आंदोलन [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

गांधी के चंपारण और खेड़ा सत्याग्रह के साथ-साथ अहमदाबाद मिल हड़ताल उनके दक्षिण अफ्रीका से लौटने के बाद के आंदोलन थे।[यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

भारत सरकार अधिनियम, 1919 - मोंटेग्यू-चेम्सफोर्ड सुधार
भारत सरकार अधिनियम, 1919 - मोंटेग्यू-चेम्सफोर्ड सुधार

भारत सरकार अधिनियम, 1919 - UPSC के लिए भारत सरकार अधिनियम 1919 की प्रमुख विशेषताएं पढ़ें। IAS परीक्षा के लिए भारत सरकार अधिनियम 1919 के विस्तृत प्रावधान प्राप्त करें।

भारत में क्रांतिकारी आंदोलन: काकोरी षडयंत्र केस, लाहौर षडयंत्र केस और बहुत कुछ
भारत में क्रांतिकारी आंदोलन: काकोरी षडयंत्र केस, लाहौर षडयंत्र केस और बहुत कुछ

भारत में क्रांतिकारी आंदोलन: काकोरी षडयंत्र केस, लाहौर षडयंत्र केस यद्यपि 1857 के बाद का भारतीय स्वतंत्रता संग्राम काफी हद तक हिंसा से मुक्त था, एक क्रांतिकारी आंदोलन भी था जिसका उद्देश्य

लाला लाजपत राय [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
लाला लाजपत राय [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: लाला लाजपत राय [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] उनकी पुण्यतिथि, 17 नवंबर को भारत में शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है।

बाल गंगाधर तिलक 1856-1920
बाल गंगाधर तिलक 1856-1920

बाल गंगाधर तिलक 1856-1920 (एनसीईआरटी नोट्स - यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास) बाल गंगाधर तिलक एक स्वतंत्रता सेनानी थे। उन्हें आमतौर पर लोकमान्य तिलक के नाम से जाना जाता है।

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन - चरमपंथी अवधि
भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन - चरमपंथी अवधि

1905 और 1920 के बीच की अवधि को चरमपंथियों की अवधि के रूप में जाना जाता है। नरमपंथियों के विपरीत चरमपंथियों का कट्टरपंथी और उग्रवादी दृष्टिकोण था।

बंगाल का विभाजन 1905 - पृष्ठभूमि, प्रतिक्रियाएं और विलोपन
बंगाल का विभाजन 1905 - पृष्ठभूमि, प्रतिक्रियाएं और विलोपन

बंगाल का विभाजन: पृष्ठभूमि, प्रतिक्रियाएं और विलोपन [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] बंगाल का विभाजन लॉर्ड कर्जन ने 16 अक्टूबर 1905 को किया था।

मॉर्ले-मिंटो सुधार - भारतीय परिषद अधिनियम 1909
मॉर्ले-मिंटो सुधार - भारतीय परिषद अधिनियम 1909

मॉर्ले-मिंटो सुधार - भारतीय परिषद अधिनियम 1909 [एनसीईआरटी नोट्स: यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास] भारतीय परिषद अधिनियम 1909 को आमतौर पर मॉर्ले-मिंटो सुधार के रूप में जाना जाता है।

भारतीय परिषद अधिनियम 1892 - विशेषताएं, आकलन
भारतीय परिषद अधिनियम 1892 - विशेषताएं, आकलन

एनसीईआरटी नोट्स: भारतीय परिषद अधिनियम 1892 - विशेषताएं, आकलन [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास] सदस्यों को एक बजट (जिसे भारतीय परिषद अधिनियम 1861 में वर्जित किया गया था)

भारतीय परिषद अधिनियम 1861 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
भारतीय परिषद अधिनियम 1861 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: भारतीय परिषद अधिनियम 1861 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] लॉर्ड कैनिंग ने 1862 में तीन भारतीयों को परिषद में नामित किया

भारत सरकार अधिनियम 1858 - प्रावधान, विशेषताएं
भारत सरकार अधिनियम 1858 - प्रावधान, विशेषताएं

भारत सरकार अधिनियम 1858 - प्रावधान, विशेषताएं [एनसीईआरटी नोट्स: यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास] भारत में ब्रिटिश क्षेत्रों पर कंपनी का शासन समाप्त हो गया

चार्टर अधिनियम 1853 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
चार्टर अधिनियम 1853 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: चार्टर अधिनियम 1853 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] यह अधिनियम तब पारित किया गया था जब लॉर्ड डलहौजी भारत के गवर्नर-जनरल थे।

भारतीय राष्ट्रवाद - नरमपंथी [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
भारतीय राष्ट्रवाद - नरमपंथी [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: भारतीय राष्ट्रवाद - नरमपंथी [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का उदारवादी चरण 1885 से 1905 तक चला।

10 Characteristics of Neoliberalism
10 Characteristics of Neoliberalism

10 characteristics of neoliberalism. Concept and Meaning 13 characteristics of neoliberalism: Neoliberalism is a theory about practices...

Spanish Civil War: summary, causes and consequences
Spanish Civil War: summary, causes, and consequences

What is the Spanish Civil War?: The Spanish Civil War was a military conflict developed in Spain from July 18, 1936 to...

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के उदय के लिए जिम्मेदार कारक | एनसीईआरटी नोट्स
भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के उदय के लिए जिम्मेदार कारक | एनसीईआरटी नोट्स

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन के उदय के लिए जिम्मेदार कारक | एनसीईआरटी नोट्स भारत में राष्ट्रीय चेतना का उदय 19वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में हुआ।

ब्रिटिश भारत में विधान - ब्रिटिश द्वारा पारित अधिनियमों की सूची
ब्रिटिश भारत में विधान - ब्रिटिश द्वारा पारित अधिनियमों की सूची

ब्रिटिश भारत में विधान - ब्रिटिश द्वारा पारित अधिनियमों की सूची ब्रिटिश भारत में विधान - ब्रिटिश भारत में पारित विधायी कृत्यों की सूची, उनके अधिनियमन की तिथि और वे उद्देश्य जिनके लिए उन्हें तैयार किया गया था

1857 का विद्रोह - कारण, प्रभाव, विफलता, शामिल महत्वपूर्ण नेताओं की सूची
1857 का विद्रोह - कारण, प्रभाव, विफलता, शामिल महत्वपूर्ण नेताओं की सूची

1857 का विद्रोह - कारण, प्रभाव, विफलता, शामिल महत्वपूर्ण नेताओं की सूची 1857 का विद्रोह 10 मई, 1857 को मेरठ में सिपाही विद्रोह के रूप में शुरू हुआ। यह ब्रिटिश अधिकारियों के खिलाफ

तीसरा कर्नाटक युद्ध (वांडीवाश की लड़ाई) - (1758-1763)
तीसरा कर्नाटक युद्ध (वांडीवाश की लड़ाई) - (1758-1763)

तीसरा कर्नाटक युद्ध (वांडीवाश की लड़ाई) - (1758-1763) [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास पर एनसीईआरटी नोट्स]

दूसरा कर्नाटक युद्ध [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
दूसरा कर्नाटक युद्ध [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: दूसरा कर्नाटक युद्ध [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] के बीच लड़ा: हैदराबाद के निज़ाम और कर्नाटक के नवाब के पदों के लिए विभिन्न दावेदार।

पहला कर्नाटक युद्ध | एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास]
पहला कर्नाटक युद्ध | एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास]

पहला कर्नाटक युद्ध | एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] एंग्लो-फ्रांसीसी प्रतिद्वंद्विता ने यूरोप में ऑस्ट्रियाई उत्तराधिकार के युद्ध और भारत में पहला कर्नाटक युद्ध का नेतृत्व किया।

रॉबर्ट क्लाइव - भारत का क्लाइव [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]
रॉबर्ट क्लाइव - भारत का क्लाइव [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]

रॉबर्ट क्लाइव - भारत का क्लाइव | एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास] यह लेख रॉबर्ट क्लाइव के बारे में बात करता है।

रानी लक्ष्मी बाई - भारतीय स्वतंत्रता संग्राम [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]
रानी लक्ष्मी बाई - भारतीय स्वतंत्रता संग्राम [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]

रानी लक्ष्मी बाई - भारतीय स्वतंत्रता संग्राम [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास] रानी लक्ष्मी बाई का जन्म 19 नवंबर, 1828 को वाराणसी में एक मराठी परिवार में मणिकर्णिका के रूप में हुआ था।

चूक का सिद्धांत - ब्रिटिश भारत में प्रशासनिक नीति (यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास)
चूक का सिद्धांत - ब्रिटिश भारत में प्रशासनिक नीति (यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास)

चूक का सिद्धांत - ब्रिटिश भारत में प्रशासनिक नीति (यूपीएससी आधुनिक भारतीय इतिहास) लैप्स के सिद्धांत का इस्तेमाल ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा भारतीय राज्यों को जोड़ने के लिए किया गया था।

नाना साहब - धोंडू पंत | एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]
नाना साहब - धोंडू पंत | एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]

नाना साहब - धोंडू पंत | एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास] 1857 के विद्रोह में नाना साहब की भूमिका के बारे में पढ़ें।

वेल्लोर विद्रोह - पहला सिपाही विद्रोह (कारण, प्रकोप और प्रभाव)
वेल्लोर विद्रोह - पहला सिपाही विद्रोह (कारण, प्रकोप और प्रभाव)

वेल्लोर विद्रोह - पहला सिपाही विद्रोह (कारण, प्रकोप और प्रभाव) [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास] 10 जुलाई 1806 को सिपाहियों ने 69वीं रेजीमेंट के 14 ब्रिटिश अधिकारियों और 115 अंग्रेजों को मार डाला।

दूसरा आंग्ल-सिक्ख युद्ध 1848-1849 [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]
दूसरा आंग्ल-सिक्ख युद्ध 1848-1849 [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]

एनसीईआरटी नोट्स: दूसरा आंग्ल-सिक्ख युद्ध 1848-1849 [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास] लाहौर की संधि के अनुसार मार्च 1849 में (लॉर्ड डलहौजी के अधीन) पंजाब को अंग्रेजों द्वारा कब्जा कर लिया गया था।

पहला आंग्ल-सिक्ख युद्ध 1845-46 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास]
पहला आंग्ल-सिक्ख युद्ध 1845-46 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास]

एनसीईआरटी नोट्स: पहला आंग्ल-सिक्ख युद्ध 1845-46 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास] पहला आंग्ल-सिख युद्ध ब्रिटिश सेना और सिख साम्राज्य के बीच 1845-46 में पंजाब में लड़ा गया था

चार्टर अधिनियम 1833 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
चार्टर अधिनियम 1833 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: चार्टर अधिनियम 1833 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] इसे भारत सरकार अधिनियम 1833 या सेंट हेलेना अधिनियम 1833 भी कहा जाता था।

ब्रिटिश शासन के दौरान भारतीय शिक्षा प्रणाली [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]
ब्रिटिश शासन के दौरान भारतीय शिक्षा प्रणाली [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]

ब्रिटिश शासन के दौरान भारत में शिक्षा प्रणाली - ब्रिटिश शासन के दौरान भारत में आधुनिक शिक्षा का प्रसार और प्रभाव। एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]

चार्टर अधिनियम 1813 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
चार्टर अधिनियम 1813 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: चार्टर अधिनियम 1813 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] 1813 के चार्टर अधिनियम ने पहली बार ब्रिटिश भारतीय क्षेत्रों की संवैधानिक स्थिति को परिभाषित किया।

चार्टर अधिनियम 1793 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
चार्टर अधिनियम 1793 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: चार्टर अधिनियम 1793 [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] इस अधिनियम ने कंपनी के राजस्व प्रशासन और न्यायपालिका के कार्यों को अलग कर दिया।

सहायक गठबंधन | IAS प्रारंभिक परीक्षा के लिए सहायक गठबंधन पर NCERT के नोट्स
सहायक गठबंधन | IAS प्रारंभिक परीक्षा के लिए सहायक गठबंधन पर NCERT के नोट्स

UPSC प्रीलिम्स के लिए सहायक गठबंधन पर मुख्य बिंदु: जानें कि किसने सहायक गठबंधन की शुरुआत की, इस गठबंधन के मुख्य सिद्धांत, इसने कैसे अंग्रेजों की मदद की। यूपीएससी के लिए सहायक गठबंधन नोट्स।

स्वामी विवेकानंद के बारे में एनसीईआरटी नोट्स: पृष्ठभूमि और योगदान
स्वामी विवेकानंद के बारे में एनसीईआरटी नोट्स: पृष्ठभूमि और योगदान

महान स्वामी विवेकानंद के जीवन और योगदान के बारे में और जानें। स्वामी विवेकानंद नोट्स मुफ्त । IAS की तैयारी स्वामी विवेकानंद के बारे में एनसीईआरटी नोट्स: पृष्ठभूमि और योगदान

राजा राम मोहन राय - महानतम समाज सुधारक
राजा राम मोहन राय - महानतम समाज सुधारक

राजा राम मोहन रॉय यूपीएससी; राजा राम मोहन राय का योगदान; 18वीं सदी के समाज सुधारक; राजा राम मोहन राय उपलब्धियां; राजा राम मोहन राय और ब्रह्म समाज; सती का उन्मूलन

ब्रिटिश भारत में भू-राजस्व की रैयतवारी और महलवारी प्रणाली
ब्रिटिश भारत में भू-राजस्व की रैयतवारी और महलवारी प्रणाली

ब्रिटिश भारत में भू-राजस्व व्यवस्थाएँ जमींदारी, रैयतवारी और महलवारी थीं। ब्रिटिश भारत में लैंड रेवेन्यू सिस्टम। यूपीएससी आईएएस परीक्षा के लिए एनसीईआरटी आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स

1773 का विनियमन अधिनियम [यूपीएससी के लिए भारत के आधुनिक इतिहास पर एनसीईआरटी नोट्स]
1773 का विनियमन अधिनियम [यूपीएससी के लिए भारत के आधुनिक इतिहास पर एनसीईआरटी नोट्स]

1773 का रेगुलेटिंग एक्ट पहला संसदीय प्राधिकरण था जो ईस्ट इंडिया कंपनी की भारतीय संपत्ति के संबंध में उसकी शक्तियों और अधिकार को परिभाषित करता था। यूपीएससी NCERT आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स।

बंगाल अकाल: घटना का अवलोकन और परिणाम
बंगाल अकाल: घटना का अवलोकन और परिणाम

यह लेख 1770 के महान बंगाल अकाल के बारे में बात करता है। इसे स्वतंत्रता पूर्व भारत की सबसे भीषण आपदाओं में से एक के रूप में वर्णित किया गया है। IAS की तैयारी ।

लॉर्ड कॉर्नवालिस - बंगाल का स्थायी बंदोबस्त [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास]
लॉर्ड कॉर्नवालिस - बंगाल का स्थायी बंदोबस्त [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास]

1793 में लॉर्ड कॉर्नवालिस के अधीन ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा बंगाल का स्थायी बंदोबस्त। बंगाल के स्थायी बंदोबस्त, लॉर्ड कॉर्नवालिस और जमींदारी व्यवस्था के बारे में विस्तार से जानें।

1784 का पिट्स इंडिया एक्ट - प्रावधान, विशेषताएं और कमियां [यूपीएससी नोट्स]
1784 का पिट्स इंडिया एक्ट - प्रावधान, विशेषताएं और कमियां [यूपीएससी नोट्स]

एनसीईआरटी नोट्स: 1784 का पिट्स इंडिया एक्ट, प्रावधान, विशेषताएं और कमियां [यूपीएससी के लिए नोट्स] इस अधिनियम के परिणामस्वरूप ब्रिटिश सरकार और कंपनी द्वारा भारत में ब्रिटिश संपत्ति का दोहरा नियंत्रण हुआ।

तीसरा आंग्ल-मराठा युद्ध - मराठों की हार के कारण [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]
तीसरा आंग्ल-मराठा युद्ध - मराठों की हार के कारण [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]

एनसीईआरटी नोट्स: तीसरा आंग्ल-मराठा युद्ध - मराठों की हार के कारण [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास] 18वीं सदी के अंत और 19वीं सदी की शुरुआत के बीच तीन आंग्ल-मराठा युद्ध (या मराठा युद्ध) लड़े गए।

द्वितीय आंग्ल-मराठा युद्ध 1803-1805 एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]
द्वितीय आंग्ल-मराठा युद्ध 1803-1805 एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास]

1799 में टीपू सुल्तान के मैसूर पर अंग्रेजों द्वारा कब्जा कर लिए जाने के बाद, मराठा एकमात्र प्रमुख भारतीय शक्ति थी जो ब्रिटिश प्रभुत्व से बाहर रह गई थी। यूपीएससी के लिए आधुनिक भारतीय इतिहास के नोट्स।

पहला आंग्ल-मराठा युद्ध | एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
पहला आंग्ल-मराठा युद्ध | एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

18वीं शताब्दी के अंत और 19वीं शताब्दी की शुरुआत के दौरान तीन आंग्ल-मराठा युद्ध लड़े गए। यूपीएससी के लिए NCERT आधुनिक भारतीय इतिहास नोट्स ।

वारेन हेस्टिंग्स - परिचय, सुधार और विनियम [यूपीएससी नोट्स]
वारेन हेस्टिंग्स - परिचय, सुधार और विनियम [यूपीएससी नोट्स]

वारेन हेस्टिंग्स 1772 में फोर्ट विलियम (बंगाल) के प्रेसीडेंसी के पहले गवर्नर और 1774 में बंगाल के पहले गवर्नर-जनरल बने। यूपीएससी के लिए NCERT मॉडर्न इंडियन हिस्ट्री नोट्स ।

The Great Wall of China: history and characteristics
The Great Wall of China: history and characteristics

The Chinese Wall is a defensive system that was built between the 5th century B.C. and the 17th century AD. to protect China from attacks coming from...

एंग्लो-मैसूर युद्ध - तीसरा और चौथा
एंग्लो-मैसूर युद्ध - तीसरा और चौथा

एंग्लो-मैसूर युद्ध - तीसरा और चौथा एंग्लो-मैसूर युद्ध 18वीं शताब्दी के उत्तरार्ध में ब्रिटिश और मैसूर साम्राज्य के बीच चार युद्धों की एक श्रृंखला थी।

प्रथम आंग्ल-मैसूर युद्ध (1766-1769) और दूसरा आंग्ल-मैसूर युद्ध (1780-1784)
प्रथम आंग्ल-मैसूर युद्ध (1766-1769) और दूसरा आंग्ल-मैसूर युद्ध (1780-1784)

प्रथम आंग्ल-मैसूर युद्ध (1766-1769) और दूसरा आंग्ल-मैसूर युद्ध (1780-1784) ब्रिटिश और मैसूर साम्राज्य के बीच लड़े गए चार एंग्लो-मैसूर युद्धों की एक श्रृंखला का हिस्सा हैं।

पानीपत की तीसरी लड़ाई | एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]
पानीपत की तीसरी लड़ाई | एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स]

पानीपत की तीसरी लड़ाई | एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए भारत का आधुनिक इतिहास नोट्स] लड़ाई 1761 में मराठा साम्राज्य और दुर्रानी साम्राज्य (अफगानिस्तान) के बीच लड़ी गई थी।

प्लासी की लड़ाई - 1757 प्लासी की लड़ाई का कारण
प्लासी की लड़ाई - 1757 प्लासी की लड़ाई का कारण

प्लासी का युद्ध 1757 का युद्ध अंग्रेजों और बंगाल के नवाब सिराज-उद-दौला के बीच लड़ा गया था। IAS परीक्षा के लिए प्लासी की लड़ाई के बारे में अधिक जानने के लिए पढ़ें।

French Revolution: what it is, summary, causes, and consequences
French Revolution: what it is, summary, causes, and consequences

What was the French Revolution?: French Revolution designates a set of events developed between May 5, 1789, and November 9, 1799...

बाद के मुगल शासक और मुगल साम्राज्य का पतन [यूपीएससी इतिहास नोट्स]
बाद के मुगल शासक और मुगल साम्राज्य का पतन [यूपीएससी इतिहास नोट्स]

बाद के मुगल शासक और मुगल साम्राज्य का पतन। फारुखसियर, बहादुर शाह जफर सहित बाद के मुगलों के बारे में अधिक जान | साथ ही मुगल साम्राज्य के पतन के बारे में भी जानें।

Machu Picchu: complete history of the forgotten Inca city
Machu Picchu: the complete history of the forgotten Inca city

Machu Picchu is an ancient Inca city found in Peru. Its name derives from the Quechua language and means 'old mountain', and it was built before...

Roman Empire: characteristics, history, emperors and contributions
Roman Empire: characteristics, history, emperors and contributions

What is the Roman Empire?: The Roman Empire was a political-military domain exercised by the Roman civilization over part of Europe, Africa, and the East...

मुगल साम्राज्य [बाबर, हुमायूं] शेर शाह सूरी [यूपीएससी मध्यकालीन इतिहास नोट्स]
मुगल साम्राज्य [बाबर, हुमायूं] शेर शाह सूरी [यूपीएससी मध्यकालीन इतिहास नोट्स]

मुगल साम्राज्य (सी। 1526 - 1857 सीई)। मुगल साम्राज्य की शुरुआत (बाबर, हुमायूं)। सूर वंश के शेर शाह सूरी के बारे में भी पढ़ें। [यूपीएससी इतिहास नोट्स]

मध्यकालीन भारत के प्रांतीय राज्य (यूपीएससी मध्यकालीन इतिहास नोट्स)
मध्यकालीन भारत के प्रांतीय राज्य (यूपीएससी मध्यकालीन इतिहास नोट्स)

मध्यकालीन भारत के प्रांतीय राज्य (विजयनगर साम्राज्य, बहमनी साम्राज्य) - शासक, महत्व, प्रशासन, समाज, आदि। यूपीएससी मध्यकालीन इतिहास नोट्स।

प्रारंभिक मध्यकालीन उत्तर भारत - प्रतिहारों, पालों, राष्ट्रकूटों पर आईएएस नोट्स।
प्रारंभिक मध्यकालीन उत्तर भारत - प्रतिहारों, पालों, राष्ट्रकूटों पर आईएएस नोट्स।

प्रारंभिक मध्यकालीन उत्तरी भारत - त्रिपक्षीय संघर्ष, राष्ट्रकूट, पाल, गुर्जर-प्रतिहार राजाओं, प्रशासन आदि के लिए यूपीएससी इतिहास नोट्स प्राप्त करें।

प्रारंभिक मध्यकालीन दक्षिण भारत [चोलों पर यूपीएससी नोट्स]
प्रारंभिक मध्यकालीन दक्षिणी भारत [चोलों पर यूपीएससी नोट्स]

प्रारंभिक मध्यकालीन दक्षिणी भारत - शाही चोल, शासकों की सूची, चोल प्रशासन, समाज, अर्थव्यवस्था, चोल कला और वास्तुकला। [यूपीएससी नोट्स]। UPSC की तैयारी के लिए

विजयनगर साम्राज्य | एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]
विजयनगर साम्राज्य | एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

तुलुव वंश के कृष्णदेवराय विजयनगर साम्राज्य के सबसे प्रसिद्ध राजा थे। यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी मध्यकालीन भारतीय इतिहास नोट्स। विजयनगर साम्राज्य

भारत में मुगल साम्राज्य | एनसीईआरटी नोट्स - [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]
भारत में मुगल साम्राज्य | एनसीईआरटी नोट्स - [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

मुगलों के शासन के दौरान सामाजिक-आर्थिक पहलू, और कला और वास्तुकला। यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी मध्यकालीन भारतीय इतिहास नोट्स का हिस्सा। भारत में मुगल साम्राज्य

दिल्ली सल्तनत - प्रशासन [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]
दिल्ली सल्तनत - प्रशासन [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

दिल्ली सल्तनत के तहत प्रशासनिक मशीनरी और कला और संस्कृति। आईएएस परीक्षा के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास नोट्स दिल्ली सल्तनत - प्रशासन [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

सैय्यद और लोदी राजवंश | एनसीईआरटी नोट्स - दिल्ली सल्तनत [भारत का मध्यकालीन इतिहास]
सैय्यद और लोदी राजवंश | एनसीईआरटी नोट्स - दिल्ली सल्तनत [भारत का मध्यकालीन इतिहास]

सैय्यद वंश की स्थापना खिज्र खान ने 1414 ई. में की थी और इस वंश का शासन तब समाप्त हुआ जब अलाउद्दीन शाह शासक था। लोदी वंश की शुरुआत 1451 ई. से हुई। बहलुल लोदी लोदी वंश के संस्थापक थे।

तुगलक वंश
तुगलक वंश

तुगलक वंश - तुगलक वंश के महत्वपूर्ण शासक मुहम्मद-बिन-तुगलक (1325-1361 ई.) फिरोज तुगलक (1351-1 388 ई.) तुगलग वंश का अंत

अकबर के उत्तराधिकारी- जहांगीर, नूरजहां, शाहजहां औरंगजेब का मध्यकालीन युग का शासन
अकबर के उत्तराधिकारी- जहांगीर, नूरजहां, शाहजहां औरंगजेब का मध्यकालीन युग का शासन

एनसीईआरटी नोट्स: अकबर के उत्तराधिकारी- जहांगीर, नूरजहां, शाहजहां औरंगजेब का मध्यकालीन युग का शासन [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

Chichen Itza: the meaning of its monuments and history
Chichen Itza: the meaning of its monuments and history

Chichen Itza was an ancient city in Mesoamerica, inhabited by peoples belonging to the Mayan culture. Charged with sacred connotations, Chichen Itza...

खिलजी वंश- अलाउद्दीन खिलजी और अन्य महत्वपूर्ण शासक [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]
खिलजी वंश- अलाउद्दीन खिलजी और अन्य महत्वपूर्ण शासक [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

खिलजी राजवंश- खिलजी वंश और जलाल-उद-दीन फिरोज खिलजी और अलाउद्दीन खिलजी के शासनकाल पर मध्यकालीन भारतीय इतिहास नोट्स पर विवरण प्राप्त करें। UPSC की तैयारी के लिए

सम्राट अकबर (1556-1605) एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास नोट्स]
सम्राट अकबर (1556-1605) एनसीईआरटी नोट्स [यूपीएससी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास नोट्स]

यूपीएससी आईएएस परीक्षा की तैयारी के लिए एनसीईआरटी नोट्स मध्यकालीन भारत अकबर 1556 से 1605 तक अकबर के राजपूतों के साथ संबंध, अकबर की धार्मिक नीति, नवरत्न, मनसबदारी प्रणाली, अकबर का प्रशासन

गुलाम वंश [1206-1290] - इल्तुतमिश, रजिया सुल्तान, कुतुब-उद-दीन ऐबक और दिल्ली सल्तनत
गुलाम वंश [मामलुक] - इल्तुतमिश, रजिया सुल्तान, कुतुब-उद-दीन ऐबक और दिल्ली सल्तनत

दिल्ली सल्तनत का गुलाम वंश - 13वीं शताब्दी के दौरान भारत पर राजवंश का शासन था। कुतुब उद-दीन ऐबक, इल्तुतमिश, रजिया सुल्ताना, बलबन आदि शासकों के बारे में जानें। मामलुक नोट्स

शेर शाह सूरी [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]
शेर शाह सूरी [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

यूपीएससी आईएएस परीक्षा की तैयारी के लिए शेर शाह सूरी और सूर राजवंश (1540-1555) पर एनसीईआरटी नोट्स पढ़ें। यूपीएससी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास नोट्स प्राप्त करें।

दिल्ली सल्तनत | एनसीईआरटी नोट्स | [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]
दिल्ली सल्तनत | एनसीईआरटी नोट्स | [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

1206 A.D से 1526 A.D तक की अवधि को दिल्ली सल्तनत काल के रूप में जाना जाने लगा। यूपीएससी की तैयारी के लिए गुलाम, खिलजी, तुगलक, सैय्यद और लोदी राजवंशों के बारे में जानें

Taj Mahal: history and characteristics
Taj Mahal: history and characteristics

Taj Mahal: history and characteristics The Taj Mahal is a mausoleum built between 1631 and 1653 in the city of Agra, India, near the Yamuna River. Famous for immortalizing one of the most

हुमायूं - मुगल साम्राज्य : एनसीईआरटी नोट्स: [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]
एनसीईआरटी नोट्स: हुमायूं - मुगल साम्राज्य [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

एनसीईआरटी नोट्स: हुमायूं - मुगल साम्राज्य [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास] नसीर-उद-दीन मुहम्मद, जिसे उनके शाही नाम से जाना जाता है, हुमायूँ बाबर का दूसरा सम्राट था।

एनसीईआरटी नोट्स: अरब और तुर्की आक्रमण [यूपीएससी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास]
एनसीईआरटी नोट्स: अरब और तुर्की आक्रमण [यूपीएससी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास]

अरब और तुर्की आक्रमण यूपीएससी के लिए महत्वपूर्ण विषय हैं। मध्यकालीन भारतीय इतिहास पर NCERT नोट्स के हिस्से के रूप में अरब और तुर्की आक्रमणों पर NCERT नोट्स पढ़ें।

बाबर - मुगल साम्राज्य के संस्थापक, शासनकाल, विजय [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी नोट्स]
बाबर - मुगल साम्राज्य के संस्थापक, शासनकाल, विजय [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी नोट्स]

बाबर का शासनकाल संक्षिप्त (1526-1530) था लेकिन उसने भारत में मुगल साम्राज्य की नींव रखी। UPSC की तैयारी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास नोट्स बाबर पर NCERT नोट्स प्राप्त करें।

एनसीईआरटी नोट्स: राष्ट्रकूट 755 ईस्वी - 975 ईस्वी [यूपीएससी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास]
एनसीईआरटी नोट्स: राष्ट्रकूट 755 ईस्वी - 975 ईस्वी [यूपीएससी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास]

दंतिवर्मन या दंतिदुर्ग (735 - 756) ने राष्ट्रकूट वंश की स्थापना की और गोदावरी और विम के बीच के सभी क्षेत्रों पर कब्जा कर लिया। राष्ट्रकूट यूपीएससी के लिए मध्यकालीन भारतीय इतिहास का एक हिस्सा हैं

भक्ति आंदोलन - भक्ति आंदोलन संतों की सूची [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास नोट्स]
भक्ति आंदोलन - भक्ति आंदोलन संतों की सूची [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास नोट्स]

भक्ति आंदोलन - सूफीवाद, अलवर, नयनार के बारे में पढ़ें। भक्ति आंदोलन की महिला संतों के बारे में। अलवर और नयनार ने कुछ शुरुआती भक्ति आंदोलनों का नेतृत्व किया। एनसीईआरटी मध्यकालीन भारतीय इतिहास

दक्कन साम्राज्य - चालुक्य, होयसला, काकतीय [यूपीएससी परीक्षा के लिए मध्यकालीन इतिहास के नोट्स]
दक्कन साम्राज्य - चालुक्य, होयसला, काकतीय [यूपीएससी परीक्षा के लिए मध्यकालीन इतिहास के नोट्स]

भारत के मध्यकालीन इतिहास में दक्कन राज्यों का बहुत महत्व है। यह लेख 6 वीं शताब्दी ईस्वी के चालुक्यों से शुरू होकर देवगिरी के यादवों के राज्य तक, राष्ट्रकूट, चालुक्य, काकतीयों के बारे में और जानें।

बहमनी साम्राज्य 1347-1526 [एनसीईआरटी नोट्स: यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]
बहमनी साम्राज्य 1347-1526 [एनसीईआरटी नोट्स: यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास]

बहमनी साम्राज्य (1347-1526 A.D.) या बहमनी सल्तनत UPSC प्रीलिम्स की तैयारी के लिए एक महत्वपूर्ण विषय है।

एनसीईआरटी नोट्स: राजपूत [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास नोट्स]
एनसीईआरटी नोट्स: राजपूत [यूपीएससी के लिए भारत का मध्यकालीन इतिहास नोट्स]

भारतीय मध्यकालीन इतिहास पर NCERT के नोट्स - राजपूत और उत्तरी राज्य, राजपूत प्रारंभिक मध्ययुगीन काल (647A.D- 1200 A.D.) के थे।

UPSC, SSC, RRB के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स | Ancient Indian History Notes in Hindi
UPSC, SSC, RRB के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स | Ancient Indian History Notes in Hindi

UPSC, SSC, RRB के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स | Ancient Indian History Notes in Hindi 'यूपीएससी' के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास के नोट्स 'एसएससी' के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास के नोट्स

9 फरवरी का इतिहास | भारत की पहली जनगणना
9 फरवरी का इतिहास | भारत की पहली जनगणना

9 फरवरी का इतिहास | भारत की पहली जनगणना - एक भारतीय शहर की पहली पूर्ण जनगणना 1830 में हेनरी वाल्टर द्वारा ढाका (अब बांग्लादेश में) के लिए की गई थी। 1866-67 में, देश के अधिकांश हिस्सों में

8 फरवरी का इतिहास | राष्ट्रपति जाकिर हुसैन का जन्म
8 फरवरी का इतिहास | राष्ट्रपति जाकिर हुसैन का जन्म

8 फरवरी का इतिहास | राष्ट्रपति जाकिर हुसैन का जन्म शिक्षाविद् और भारत के तीसरे राष्ट्रपति जाकिर हुसैन का जन्म 8 फरवरी 1897 को हैदराबाद में हुआ था।

7 फरवरी का इतिहास | मास्ट्रिच संधि
7 फरवरी का इतिहास | मास्ट्रिच संधि

7 फरवरी का इतिहास मास्ट्रिच संधि की संधि पर 7 फरवरी 1992 को हस्ताक्षर किए गए थे। मास्ट्रिच संधि यूरो मुद्रा के गठन से संबंधित है। मास्ट्रिच, नीदरलैंड्स में यूरोपीय समुदाय के सदस्यों द्वारा इस पर हस्ताक्षर किए गए थे।

एशियाई देशों के साथ भारतीय सांस्कृतिक संपर्क - दक्षिण पूर्व एशिया, चीन पर भारतीय प्रभाव
एशियाई देशों के साथ भारतीय सांस्कृतिक संपर्क - दक्षिण पूर्व एशिया, चीन पर भारतीय प्रभाव

एशियाई देशों के साथ भारतीय सांस्कृतिक संपर्क - दक्षिण पूर्व एशिया, चीन पर भारतीय प्रभाव [यूपीएससी नोट्स] भारतीय कला और संस्कृति का प्रभाव, दक्षिण पूर्व एशिया, भारत-चीन, चीन आदि पर धर्म।

प्रारंभिक मध्यकालीन भारत [इतिहास नोट्स]
प्रारंभिक मध्यकालीन भारत [इतिहास नोट्स]

प्रारंभिक मध्यकालीन भारत: क्षेत्रीय विन्यास का युग (सी.600 - 1200 सीई)। हर्षवर्धन, मौखरी और बादामी के चालुक्य। प्रारंभिक मध्यकालीन भारत और उससे जुड़े शासकों जैसे हर्षवर्धन, पुलकेशिन I, पुलकेशिन II

बौद्ध धर्म - परिभाषा, मूल, शिक्षाएं, बौद्ध परिषदें।
बौद्ध धर्म - परिभाषा, मूल, शिक्षाएं, बौद्ध परिषदें।

बौद्ध धर्म - परिभाषा, मूल, शिक्षाएं, बौद्ध परिषदें। यूपीएससी और सरकारी परीक्षाओं के लिए बौद्ध धर्म के नोट्स। बुद्ध का जीवन, बौद्ध परिषदें, बुद्ध की शिक्षाएं, बौद्ध प्रतीक। भारत में बौद्ध धर्म का प्रसार और पतन।

जैन धर्म की उत्पत्ति, प्रसार, संप्रदाय, आदि।
जैन धर्म की उत्पत्ति, प्रसार, संप्रदाय, आदि।

जैन धर्म - यूपीएससी नोट्स। उत्पत्ति, जैन धर्म का प्रसार, जैन धर्म दर्शन। जैन धर्म के सिद्धांतों, वर्धमान महावीर और जैन धर्म के संप्रदायों के बारे में भी पढ़ें। जैन धर्म के प्रथम तीर्थंकर कौन थे?

उत्तर वैदिक संस्कृति - उत्तर वैदिक युग के राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक जीवन
उत्तर वैदिक संस्कृति - प्राचीन इतिहास

उत्तर वैदिक सभ्यता - उत्तर वैदिक युग के राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक जीवन के बारे में पढ़। इसके अलावा, यूपीएससी इतिहास नोट्स पीडीएफ उत्तर वैदिक युग की मुख्य घटनाएँ क्या थीं?

महाजनपद के युग में सामाजिक और भौतिक जीवन
महाजनपद के युग में सामाजिक और भौतिक जीवन

महाजनपद के युग में सामाजिक और भौतिक जीवन महाजनपद - लोगों के जीवन पर विस्तृत नोट्स। IAS . के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास 16 महाजनपद कौन से थे? कौन सा महाजनपद सबसे शक्तिशाली था?

मौर्य साम्राज्य - शासक, उपलब्धियां, समयरेखा, आदि।
मौर्य साम्राज्य - शासक, उपलब्धियां, समयरेखा, आदि।

मौर्य साम्राज्य नोट्स: मौर्य राजवंश पर एक व्यापक नोट प्राप्त करें। मौर्य शासकों, चंद्रगुप्त मौर्य, अशोक (धम्म, शिलालेख), मौर्यों के पतन के बारे में भी पढ़ें। यूपीएससी नोट्स सबसे शक्तिशाली मौर्य शासक कौन थे?

मध्य एशियाई संपर्क और उनके परिणाम - इंडो-यूनानी, बैक्ट्रियन, शक आदि का प्रभाव।
मध्य एशियाई संपर्क और उनके परिणाम - इंडो-यूनानी, बैक्ट्रियन, शक आदि का प्रभाव।

मध्य एशियाई संपर्क और उनके परिणाम - आईएएस परीक्षा के लिए प्राचीन इतिहास नोट्स। लेख विवरण भारत-यूनानी, बैक्ट्रियन, कुषाण, शक, आदि का भारत पर प्रभाव।

गुप्त और वाकाटक के समाज, धर्म, कला और वास्तुकला, साहित्य, अर्थव्यवस्था
गुप्त और वाकाटक के समाज, धर्म, कला और वास्तुकला, साहित्य, अर्थव्यवस्था

गुप्त और वाकाटक - जीवन के पहलू। IAS और सरकारी परीक्षाओं के लिए इतिहास के नोट्स गुप्त और वाकाटक के तहत जीवन | गुप्त और वाकाटकों के समाज, धर्म, कला और वास्तुकला, साहित्य, अर्थव्यवस्था आदि के बारे में पढ़ें।

प्राचीन इतिहास संगम युग: दक्षिण भारत का इतिहास, चोल, चेर, पांड्या।
प्राचीन इतिहास संगम युग: दक्षिण भारत का इतिहास, चोल, चेर, पांड्या।

प्राचीन इतिहास दक्षिण भारत में संगम युग - संगम समाज की राजनीतिक, सामाजिक, प्रशासनिक, धार्मिक विशेषताएं। संगम साहित्य के बारे में भी पढ़ें - तोलकाप्पियम, थिरुक्कुरल, सिलपाथिकारम, आदि।

मौर्योत्तर काल में शिल्प, व्यापार और कस्बे
मौर्योत्तर काल में शिल्प, व्यापार और कस्बे

मौर्योत्तर काल में शिल्प, व्यापार और कस्बे मौर्य काल के बाद के प्राचीन इतिहास के नोट्स। मौर्योत्तर प्राचीन भारत में शिल्प, व्यापार, नगरों के बारे में अधिक पढ़ने के लिए क्लिक करें। यूपीएससी के लिए इतिहास नोट्स।

कण्व वंश - शुंग वंश से उदय, शासकों की सूची, पतन
कण्व वंश - शुंग वंश से उदय, शासकों की सूची, पतन

कण्व वंश की स्थापना वासुदेव कण्व ने की थी। ऐसा माना जाता है कि वासुदेव कण्व ने शुंग शासक देवभूति को मार डाला और 72 ईसा पूर्व में अपना साम्राज्य स्थापित किया। कण्व वंश और शुंग वंश और सातवाहन वंश के साथ उसके संबंध

वाकाटक - सीमा, शासक [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स]
वाकाटक - सीमा, शासक

वाकाटक - सीमा, शासक | एनसीईआरटी नोट्स: वाकाटक राजवंश [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] वत्सगुल्मा शाखा प्रवरपुरा-नंदीवर्धन शाखा

पाल साम्राज्य | राजवंश 750 ईस्वी - 1162 ईस्वी [ प्राचीन भारतीय इतिहास ]
पाल साम्राज्य | राजवंश 750 ईस्वी - 1162 ईस्वी [ प्राचीन भारतीय इतिहास ]

पाल साम्राज्य | राजवंश 750 ईस्वी - 1162 ईस्वी [यूपीएससी 2022 के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास] पाल साम्राज्य ने बंगाल के क्षेत्र पर कितने समय तक शासन किया? पाल साम्राज्य का अंत किसने किया?

चालुक्य राजवंश - शासक, चालुक्य साम्राज्य का विस्तार, प्रशासन, समाज, कला और वास्तुकला में परिवर्तन
चालुक्य राजवंश - शासक, चालुक्य साम्राज्य का विस्तार, प्रशासन, समाज, कला और वास्तुकला में परिवर्तन

चालुक्य राजवंश - शासक, चालुक्य साम्राज्य का विस्तार, प्रशासन, समाज, कला और वास्तुकला में परिवर्तन चालुक्य राजवंश - (6वीं शताब्दी से 12वीं शताब्दी) [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास के नोट्स]

पल्लव राजवंश - समाज और वास्तुकला
पल्लव - समाज और वास्तुकला

पल्लव - समाज और वास्तुकला एनसीईआरटी नोट्स: पल्लव राजवंश [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] पल्लव समाज और संस्कृति पल्लव वास्तुकला कौन सी संरचना पल्लव वास्तुकला का उदाहरण है?

पल्लव वंश - मूल और शासक
पल्लव वंश - मूल और शासक

पल्लव वंश - मूल और शासक - 275 सीई-897 सीई [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] पल्लव वंश की स्थापना किसने की? पल्लव किसके शासन काल में एक प्रमुख शक्ति बन गए थे?

हर्ष - राजा हर्षवर्धन के बारे में तथ्य
हर्ष - राजा हर्षवर्धन के बारे में तथ्य

हर्ष - राजा हर्षवर्धन के बारे में तथ्य [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास पर एनसीईआरटी नोट्स] हर्षवर्धन कौन थे? राजा हर्षवर्धन को एक प्रमुख शासक क्यों माना जाता है?

गुप्त साम्राज्य की विरासत और पतन [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास]
गुप्त साम्राज्य की विरासत और पतन [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास]

गुप्त साम्राज्य की विरासत और पतन [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास] क्या गुप्त काल में कला और संस्कृति का विकास हुआ था? गुप्त युग को 'भारत का स्वर्ण युग' क्यों कहा जाता है?

गुप्त साम्राज्य - गुप्त वंश के बारे में तथ्य
गुप्त साम्राज्य - गुप्त वंश के बारे में तथ्य

गुप्त साम्राज्य - गुप्त वंश के बारे में तथ्य (यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन इतिहास) गुप्त साम्राज्य की उत्पत्ति गुप्त साम्राज्य का पतन गुप्त साम्राज्य - किंग्स

कुषाण साम्राज्य - उत्पत्ति, उपलब्धियां और कनिष्क का नियम
कुषाण साम्राज्य - उत्पत्ति, उपलब्धियां और कनिष्क का नियम

कुषाण साम्राज्य - उत्पत्ति, उपलब्धियां और कनिष्क का नियम [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] कुषाण साम्राज्य का पतन प्रश्न 1. सबसे प्रमुख कुषाण शासक कौन थे?

शक युग (शाका) - [एनसीईआरटी नोट्स - यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास]
शक युग (शाका) - [एनसीईआरटी नोट्स - यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास]

शक युग (शाका) - [एनसीईआरटी नोट्स - यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास] शक का पतन भारत में शकों को किसने हराया? सीथियन किस जाति के थे?

भारत में हिंद-यवन शासन [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास]
इंडो-यूनानी राज [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास]

भारत में हिंद-यवन शासन [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास] इंडो-ग्रीक - भारत में यूनानियों की प्रारंभिक उपस्थिति इंडो-ग्रीक किंगडम इंडो-यूनानियों के सिक्के इंडो-यूनानी साम्राज्य का पतन

6 फरवरी का इतिहास | मोतीलाल नेहरू की मृत्यु [6 फरवरी, 1931]
6 फरवरी का इतिहास | मोतीलाल नेहरू की मृत्यु

6 फरवरी का इतिहास | मोतीलाल नेहरू की मृत्यु [6 फरवरी, 1931] मोतीलाल नेहरू जीवनी मोतीलाल नेहरू की मृत्यु का कारण क्या था? मोतीलाल नेहरू का जन्म कब और कहाँ हुआ था? गंगाधर नेहरू कौन थे?

मौर्योत्तर भारत – सातवाहन राजवंश
मौर्योत्तर भारत – सातवाहन राजवंश

मौर्योत्तर भारत – सातवाहन राजवंश - सातवाहन साम्राज्य के महत्वपूर्ण शासक [यूपीएससी इतिहास नोट्स] सातवाहन राजवंश की उत्पत्ति और विकास सातवाहन वंश के महत्वपूर्ण शासक

मौर्योत्तर भारत – शुंग राजवंश
मौर्योत्तर भारत – शुंग राजवंश

मौर्योत्तर भारत – शुंग राजवंश एनसीईआरटी नोट्स: शुंग राजवंश [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] शुंग वंश का संस्थापक कौन था ? शुंग वंश किसके लिए जाना जाता है ?

मौर्य साम्राज्य: पतन के कारण
मौर्य साम्राज्य: पतन के कारण

एनसीईआरटी नोट्स: मौर्य साम्राज्य: पतन के कारण [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास] मौर्य साम्राज्य के अंतिम चरण ब्राह्मणवादी प्रतिक्रिया वित्तीय संकट दमनकारी नियम

अशोक शिलालेख | भारतीय इतिहास नोट्स
अशोक शिलालेख | भारतीय इतिहास नोट्स

अशोक शिलालेख (अशोक के शिलालेख) [एनसीईआरटी नोट्स - यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] स्तंभ शिलालेख माइनर रॉक एडिक्ट्स कुल 33 शिलालेख हैं

अशोक - जीवन और धम्म | एनसीईआरटी नोट्स
अशोक - जीवन और धम्म | एनसीईआरटी नोट्स

एनसीईआरटी नोट्स: अशोक - जीवन और धम्म [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] प्रारंभिक जीवन सत्ता में वृद्धि बौद्ध धर्म में परिवर्तन अशोक का धम्म (या संस्कृत में धर्म)

मौर्य प्रशासन
मौर्य प्रशासन

मौर्य प्रशासन केंद्र सरकार स्थानीय प्रशासन सैन्य राजस्व पुलिस जासूसी परिवहन मौर्य साम्राज्य को कितने प्रांतों में विभाजित किया गया था? राजा अशोक ने मौर्य प्रशासकों में कौन से सुधार लाए?

चंद्रगुप्त मौर्य और मौर्य साम्राज्य का उदय | मौर्य साम्राज्य (322-185) ईसा पूर्व
चंद्रगुप्त मौर्य और मौर्य साम्राज्य का उदय

मौर्य साम्राज्य (322-185) ईसा पूर्व - प्राचीन भारतीय इतिहास यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी नोट्स मौर्य वंश का संस्थापक कौन है ? मौर्य वंश का पतन क्यों हुआ? क्या गुप्त वंश और मौर्य वंश एक ही थे?

जैन धर्म - तीर्थंकर, वर्धमान महावीर और त्रिरत्न [ प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स]
जैन धर्म - तीर्थंकर, वर्धमान महावीर और त्रिरत्न [ प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स]

जैन धर्म - तीर्थंकर, वर्धमान महावीर और त्रिरत्न [एनसीईआरटी यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] जैन धर्म की उत्पत्ति जैन धर्म के संस्थापक जैन धर्म के उदय के कारण जैन धर्म की शिक्षा

बौद्ध परिषद और महत्वपूर्ण ग्रंथ [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी कला और संस्कृति]
बौद्ध परिषद और महत्वपूर्ण ग्रंथ [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी कला और संस्कृति]

बौद्ध परिषद और महत्वपूर्ण ग्रंथ [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी कला और संस्कृति] बौद्ध धर्म के प्रसार के कारण भारत में बौद्ध धर्म के पतन के कारण

गौतम बुद्ध - जीवन और शिक्षाएं [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स]
गौतम बुद्ध - जीवन और शिक्षाएं [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स]

गौतम बुद्ध - जीवन और शिक्षाएं [यूपीएससी के लिए एनसीईआरटी प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] बौद्ध धर्म में चार आर्य सत्य (आर्य सत्य) हैं: बौद्ध धर्म में अष्टांगिक मार्ग है: बौद्ध धर्म के त्रि रत्न हैं:

मगध साम्राज्य का उदय और विकास [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स]
मगध साम्राज्य का उदय और विकास [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स]

मगध साम्राज्य का उदय और विकास [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास नोट्स] हर्यंक राजवंश – शिशुनाग राजवंश – नंद वंश मगध के उदय के कारण मगध का प्रथम राजा कौन है

4 फरवरी का इतिहास | चौरी चौरा हादसा | मधुसूदन दासो
4 फरवरी का इतिहास | चौरी चौरा हादसा | मधुसूदन दासो

4 फरवरी का इतिहास | 4 फरवरी 1922 चौरी चौरा हादसा | 4 फरवरी 1934 को क्या हुआ था? मधुसूदन दासो | 1920 भारत के पूर्व राष्ट्रपति के आर नारायणन का जन्म।

3 फरवरी का इतिहास | दीव की लड़ाई: यूपीएससी इतिहास के लिए पृष्ठभूमि और घटनाक्रम
3 फरवरी का इतिहास | दीव की लड़ाई: यूपीएससी इतिहास के लिए पृष्ठभूमि और घटनाक्रम

3 फरवरी का इतिहास | दीव की लड़ाई एक तरफ पुर्तगाली सेना और गुजरात के सुल्तान, कालीकट के ज़मोरिन, मिस्र की मामलुक सल्तनत और वेनिस गणराज्य की संयुक्त सेनाओं

भारत पर ईरानी और यूनानी आक्रमण | Iranian and Greek invasion of India
फारसी और ग्रीक आक्रमण - साइरस आक्रमण, सिकंदर का आक्रमण और प्रभाव

भारत पर फारसी और ग्रीक या ईरानी और मैसेडोनिया के आक्रमण। यूपीएससी के लिए प्राचीन इतिहास के नोट्स & सरकार परीक्षा। उत्तर पश्चिमी भारत पर सिकंदर के आक्रमण का प्रभाव।

वैदिक सभ्यता- महत्वपूर्ण घटनाएँ [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास के नोट्स]
वैदिक सभ्यता- महत्वपूर्ण घटनाएँ [यूपीएससी के लिए प्राचीन भारतीय इतिहास के नोट्स]

वैदिक सभ्यता - यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा के लिए वैदिक सभ्यता पर प्राचीन इतिहास एनसीईआरटी नोट्स प्राप्त करें। यूपीएससी आईएएस परीक्षा के लिए एनसीईआरटी प्राचीन इतिहास वैदिक काल

वैदिक साहित्य - वेद, ब्राह्मण, आरण्यक और उपनिषद (UPSC GS-I)
वैदिक साहित्य - वेद, ब्राह्मण, आरण्यक और उपनिषद (UPSC GS-I)

वैदिक साहित्य में वेद, ब्राह्मण, आरण्यक और उपनिषद शामिल हैं। श्रुति और स्मृति ग्रंथों के बारे में जानें। IAS परीक्षा के लिए वैदिक साहित्य पर महत्वपूर्ण बिंदुओं के बारे में पढ़ें।

वेदों के प्रकार - चार वेद नाम और विशेषताएं (यूपीएससी प्राचीन इतिहास)
वेदों के प्रकार - चार वेद नाम और विशेषताएं (यूपीएससी प्राचीन इतिहास)

वेदों के प्रकार - जानिए चारों वेदों के बारे में। ऋग्वेद, सामवेद, यजुर्वेद और अथर्ववेद। चार प्रकार के वेदों की विशेषताएँ पढ़ें। वेद नोट्स पीडीएफ के प्रकार डाउनलोड करें।

ऋग्वेद - ऋग्वेद के प्रमुख तथ्य और महत्व [ प्राचीन भारतीय इतिहास के नोट्स ]
ऋग्वेद - ऋग्वेद के प्रमुख तथ्य और महत्व [ प्राचीन भारतीय इतिहास के नोट्स ]

UPSC के लिए ऋग्वेद के बारे में तथ्य - जानें ऋग्वेद (सबसे पुराना वेद) के बारे में महत्वपूर्ण तथ्य। ऋग्वेद की रचना प्राचीन भारत में संस्कृत में हुई थी। ऋग्वेद की उत्पत्ति, महत्व के बारे में पढ़ें।

सिंधु घाटी सभ्यता - यूपीएससी के लिए सिंधु घाटी सभ्यता के बारे में 100 जरूरी तथ्य
सिंधु घाटी सभ्यता - यूपीएससी के लिए सिंधु घाटी सभ्यता के बारे में 100 जरूरी तथ्य

सिंधु घाटी सभ्यता (IVC) कांस्य युग की सभ्यता थी। हड़प्पा सभ्यता के रूप में जाना जाता है, यह 3300 ईसा पूर्व से 1900 ईसा पूर्व के बीच अस्तित्व में था। सिंधु घाटी सभ्यता

सिंधु घाटी सभ्यता - महत्वपूर्ण तिथियां, साइटें और पतन
सिंधु घाटी सभ्यता - महत्वपूर्ण तिथियां, साइटें और पतन

यूपीएससी आईएएस परीक्षा के लिए सिंधु घाटी सभ्यता - सिंधु घाटी सभ्यता के दौरान महत्वपूर्ण घटनाओं पर विवरण प्राप्त करें। सिंधु घाटी सभ्यता - महत्वपूर्ण तिथियां, साइटें और पतन

भारत में प्रागैतिहासिक युग - पुरापाषाण, मध्यपाषाण, नवपाषाण, ताम्रपाषाण (UPSC GS-I) लौह युग
भारत में प्रागैतिहासिक युग - पुरापाषाण, मध्यपाषाण, नवपाषाण, ताम्रपाषाण (UPSC GS-I) लौह युग

भारत में प्रागैतिहासिक युग - लेखन के उद्भव से पहले का युग। औजारों के प्रयोग के अनुसार प्रागैतिहासिक काल को पाँच कालों में बाँटा गया है- पुरापाषाण, मध्यपाषाण, नवपाषाण, ताम्रपाषाण, लौह युग।